30 August 2016

मन के हारे हार है , मन के जीते जीत




Motivational article on you win you lose in hindi


!! मन के हारे हार है , मन के जीते जीत !! 


Friends,
आज जो मैं इस post के through आपको बताने जा रही हूँ , इसे अगर आपने अपने life में follow कर लिया तो आपकी सारी problems चाहे वो छोटी-से-छोटी हो या बड़ी-से-बड़ी solve हो सकती है | आपने ये कहावत (line) तो जरुर सुनी होगी कि




                           “मन के हरे हार है मन के जीते जीत” 


ये सुनने में जितनी छोटी सी line है पर है बड़ी दमदार....

सच है कि.......हार और जीत हमारी सोच (मानने) पर ही निर्भर है :- 


            अगर मान लिया तो हार है और अगर ठान लिया तो जीत है |


इस बात से इतना फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या करते है ,बोलते है, सुनते है ,फर्क पड़ता है तो सिर्फ इस बात से की आप क्या मानते है क्योंकि जो आप मानते है आज नहीं तो कल आप वो बन जाते है | अगर कोई आदमी ये मान लें कि वो कुछ नहीं कर सकता तो क्या वो कर पाएगा ???   नहीं कर पाएगा और अगर कोई मान लें कि मैं सब कुछ कर सकता हूँ तो दुनिया की कोई ताकत उसे कुछ भी करने से नहीं रोक पाएगी.....

अगर आप सच-मुच successful होना चाहते है तो आज से नहीं अभी से ये मान लें कि , जान लें नहीं , जान तो लिया आपने पर अगर ये मान लें कि आप successful हो तो आप कुछ भी कर सकते हो | जैसे ही आप ये मानने लग जाओगे ये एक दिन हकीकत बन जाएगा और आप सच में successful हो जाओगे |

अब next point ,

चलो अब आपने मानना भी शुरु कर दिया कि आप successful हो आप वो सबकुछ कर सकते हो जो आप चाहते हो (या कुछ नया) पर जैसे ही आप वो काम start करोगे तो सबसे पहले आपके mind में क्या आएगा की ये थोड़ा मुश्किल है | ये जो मुश्किल word है ना ये failure का starting है , क्योंकि किसी भी चीज में आज अगर आप बोलते रहेंगे मुश्किल है...... मुश्किल है....... मुश्किल है....... तो कुछ time बाद आप क्या बोलने लग जाओगे कि नामुनकिन है , हो ही नहीं सकता है मतलब the end .......




ये जो मुश्किल word है ना उसने क्या किया हुआ है की हम सब को पकड़कर के रखा हुआ है , बांध करके रखा हुआ है एक रस्सी की तरह .......

जैसे एक सर्कस में हाथी होता है उसे बांध करके रखा जाता है जब वो छोटा होता है , वो हाथी का बच्चा होता है छोटा-सा वो क्या करता है बहुत कोशिश करता है , उस रस्सी को तोड़ने की ,बहुत दम लगता है पर बेचारा नहीं तोड़ पाता है उसमे इतनी ताकत नहीं होती तो उसके दिमाग में क्या बैठ जाता है की मुश्किल है – मैं नहीं तोड़ पाउँगा पर आज जब वो बड़ा हो गया है वो चाहे तो एक रस्सी ही नहीं बल्कि ऐसी हजार रस्सियाँ भी तोड़ सकता है पर वो कोशिश ही नहीं करता |
इसी तरह हमें भी बचपन से ये बताया जाता है , समझाया जाता है कि हम क्या-क्या कर सकते है और क्या नहीं और हम भी उस हाथी की तरह उसे सच मान बैठते है और फिर कभी try ही नहीं करते है और ये research भी किया जा चुका है कि दुनिया में 90% लोग सिर्फ इसलिए सफल नहीं हो पाते क्योंकि वो कभी try ही नहीं करते है ........




अब next.........

कुछ चीजे ऐसी है जो आप को आसान लगती है , वो तो आपके लिए आसान है पर पर कुछ चीजें है जो आपको मुश्किल लगती है , पर मुश्किल है नहीं | अगर आप किसी भी तरीके से आप ये मान लो कि वो भी आसान है तो क्या होगा आसान हो जाएगा , वो सच में आसान हो जाएगा .........

बस आपको अपनी life की छोटी-से-छोटी और बड़ी-से-बड़ी problems में जा के इन दो words को चिपका देना है और वो है – “आसान है” ........

पर हम अगर सिर्फ बैठ कर सिर्फ ये कहते रहे कि आसान है तो क्या सारा काम अपने आप हो जाएगा .......नहीं ........


अब अगर आप सच में कुछ करना चाहते हो तो नीचे लिखे इन steps  को follow करे :-


    1)      सबसे पहले अपना एक लक्ष्य (goal) बनाइए..............
    2)      फिर उसे पूरा करने के लिए हर रोज कुछ time दीजिए अगर आप इसके लिए time नहीं निकाल पा रहे है तो आप इस article को जरुर पढे :- "Time"- The key of success in Hindi शायद आपकी कुछ help हो जाए और उस time में अपने goal से related कुछ जानकारी ढ़ूंढ़िए की आपको अपने goal तक पहुँचने के लिए क्या-क्या करना पड़ेगा .........
    3)      उसके बाद goal को पूरा करने के लिये एक प्लान बनाइए और उसे धीरे-धीरे छोटे से छोटे step से पूरा करने की कोशिश कीजिए..............
    4)      और यकीन मानिये इस तरह थोड़ा-थोड़ा करके भी आप अपने goal को achieve कर सकते हो | हाँ अगर आप इसके लिए ज्यादा time निकल सकते है  तो बहुत अच्छी बात है ...................

और अब last मैं आपसे सिर्फ ये कहना चाहूंगी कि आप जो कुछ भी करना चाहते है उसके लिए try जरुर करें जीत आपकी ही होगी | इस बात पर बहुत ही सुन्दर पंक्तियाँ लिखी गयी है :-




एक  कोशिश और कर बैठ ना  तू हारकर
तू है पुजारी कर्म का थोड़ा तो इंतजार कर ,
विश्वास को ढ़ृढ़ बना संकल्प को कृत बना
एक कोशिश और कर बैठ ना तू हारकर | |



इस post का credit मैं संदीप माहेश्वरी (Sandeep Maheshwari) सर को देना चाहूंगी क्योकिं ये सारी बातें मैंनें उन्ही की video “Last life changing seminar by Sandeep Maheshwari” से सीखी है और इन्हें अपने practical life में किया है ये सच-मुच बहुत काम करती है |
Thanks to Sandeep sir.........................

अगर आप इन बातों को और अच्छे से समझना चाहते है तो Please watch this video “it’s amazing”.     






Also read :- सबसे बड़ा रोग - क्या कहेंगे लोग ????? 






                                  ……………………………………………………………..............


loading...





निवेदन :- कृपया   अपने   comments   के   माध्यम   से   जरुर   बताएं   की   आपको    यह   Post    कैसी    लगा   और   यदि   आपको   यह   Post   पसंद   आया  हो तो   please   इसे   अपने   friends   के   साथ   जरुर   share   करे   |


यदि    आपके    पास    हिंदी    में    कोई    good   article,    poem , inspirational story , या  जानकारी  है , जो  आप  हमारे  साथ  share  करना  चाहते  है,  तो  कृपया  हमसे  contact करे (Contact Us) ,  पसंद  आने  पर   हम  उसे  आप  के  नाम  और  photo  के  साथ  यहाँ  publish  करेंगे , Thanks !









4 comments: